महिलाओं में PCOD के कारण खराब होती प्रजनन क्षमता दूर करेगी ये 5 एक्सरसाइज!

pcod

पीसीओडी या पीसीओएस कुछ भी कह लें पर ये समस्या बहुत सी महिलाओं में काफी कॉमन होती जा रही है और इस समस्या के कारण बहुत सी महिलाओं की प्रजनन क्षमता भी प्रभावित हो रही है|

इसलिए आज हम आपसे कुछ ऐसी एक्सरसाइज के बारे में बात करेंगे जिससे रोज़ करने से आप पीसीओडी से प्रजनन में होनी वाली दिक्कत को दूर कर सकते हैं| पीसीओडी एक हॉर्मोनल विकार है जिस वजह से बहुत सी महिलाओं को गर्भवती होने में दिक्कत होती है|

सबसे पहली सलाह जो की हर एक महिला जो पीसीओडी से जूझ रही हैं उससे फॉलो करनी चाहिए की वो अपनी समस्या के निवारण के लिए किसी भी डॉक्टर से संपर्क करें और उस डॉक्टर के अनुसार ही दवाइयाँ या लाइफ़स्टाइल में बदलाव करें| इसके साथ ही ये भी ज़रूरी है की किसी भी तरह की एक्सरसाइज करने से पहले भी आप अपने डॉक्टर की सलाह ले लें|

सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया भर में बहुत सारी महिलाएं पीसीओडी की समस्या से पीड़ित हैं जिस कारण उन्हें बहुत सी शारीरिक दिक्कतों का सामना करना पड़ता है जैसे:

·         अनियमित पीरियड्स

·         लागातार वजन बढ़ना

·         पीरियड्स में अत्यधिक दर्द होना

·         एक्ने

·         शरीर के उन अंगों पर बाल आना जहां अमूमन बाल नहीं आते हैं

·         चेहरे में मुंहासे

·         बांझपन

ये लक्षण इसलिए भी होते हैं क्यूंकी पीसीओडी की समस्या में महिलों के शरीर में एंड्रोजन हॉरमोन के स्तर में बढ़ावा होता है और यही कारण है की इससे महिलाओं को गर्भ ठहरने से लेकर बांजपन जैसी गंभीत समस्या का सामना करना पद सकता है|

‘एशियन जर्नल ऑफ स्पोर्ट्स मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं के अनुसार पीसीओडी या पीसीओएस से पीड़ित महिलाओं में बांझपन का मुख्य कारण एनोव्यूलेशन है| ये एक ऐसी समस्या है जहां अंडाशय एक मासिक धर्म के दौरान अंडे जारी करने में विफल रहते हैं।’

बात करें तो पीसीओडी की तो ये एक ऐसी समस्या है जिससे न सिर्फ गर्भधारण मुश्किल होता है बल्कि कई महिलाएं अत्यधिक स्ट्रैस का भी शिकार हो जाती हैं। दूसरे अध्यानों के अनुसार रोजाना व्यायाम करने से और कुछ तरह की एक्‍सरसाइज करने से इस तरह के हॉर्मोनल विकार महिलाओं में होने वाली प्रजनन की समस्या को कम किया जा सकता है|

जब आप व्यायाम करते हैं तो इससे आपके मोटे होने के आसार तो कम होते ही हैं साथ ही आपका शरीर भी बेहतर तरीके से काम करता है| अत्यधिक मोटापा हॉरमोन के असंतुलन का कारण बन सकता है|  

चलिये जानते हैं की किस तरह व्यायाम करने से आप पीसीओडी में होने वाली समस्या से छुटकारा पा सकते हैं|

ये 5 एक्सरसाइज रोजाना करें:

1.   सुबह के आमय टहलना:

सुबह के समय पदल चलने से या फिर धीरे-धीरे भागने से आप शुरुआत कर सकते हैं| ज़रूरी नहीं की पहले दिन ही 5 किलोमीटर दौड़ना है| ये एक्‍सरसाइज आपके खून के प्रवाह को बेहतर बनाएगी और आपको पूरे दिन तरोताज़ा महसूस होगा| इसके साथ ही एक अद्यान्न के अनुसार जिन पीसीओडी की समस्या में सैर करने से या जौगिंग करने से प्रजनन क्षमता में सुधार होता है|

2.   तैरना:

ये भी एक तरह की बेहतरीन एक्‍सरसाइज है क्यूंकी इस एक्‍सरसाइज को करने से प्रजन्नन क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकती है| हालांकि इसका कोई ठोस संबंध नहीं है| तैरने से शरीर के खून का प्रवाह बेहतर होता है शायद ये कारण हो सकता है की इससे  अप्रत्यक्ष रूप से गर्भ बनाने की आपकी क्षमता में सुधार करता है। इसके साथ ही तैरे से वज़न नियंत्रित करने में भी मदद मिलती है और ये फाइट लॉस के लिए अच्छी एक्‍सरसाइज मानी जाती है| आप रोजाना 30 मिनट के लिए तैरना शुरू कर दें और इससे होने वाले लाभ खुद देख पाएंगें|

3.   स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग:

कई बार लोगों का वज़न ज़्यादा नहीं होता पर उनके शरीर को टोनिंग की ज़रूरत होती है तो ऐसे में स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग काफी कारगर साबित हो सकती है| अध्यन्न के अनुसार स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग से तनाव तो दूर होगा ही इसके साथ ही आपकी मांसपेशियाँ भी मजबूत बनेगी| पीसीओडी की समस्या से जूझ रही महिलाओं को अध्यन्न के अनुसार ज़रूर करनी चाहिए क्यूंकी इससे उनको प्रजनन संबन्धित दिक्कतों से निजात मिल सकता है| लेकिन इस बात का भी ध्यान रहे की ज़रूरत से ज़्यादा व्यायाम नहीं करना है, जितना ज़रूरी है ऊँठा ही करना है और इसके साथ आराम और खाने पर भी अधिक ध्यान देना है क्यूंकी ज़्यादा व्यायाम करने से भी टेस्टोस्टेरोन हॉरमोन बढ़ सकता है|

4.   जुम्बा:

ये एक तरह की फन एक्‍सरसाइज है जिससे की मोटापा कम करने में काफी सहता मिल सकती है| इसके साथ ही जुम्बा प्रजनन क्षमता को प्रभावित करने में भी सहायक है।यही कारण है की पीसीओडी की समस्या से बचने के लिए वज़न कम करने की सलाह ज़रूर डी जाती है| जिन लोगों को जिम जाना बहुत बोरिंग लगता है पर डांस करने में अलग सुकून आता है उनके लिए जुम्बा एक्‍सरसाइज फिट रहने या फिर वज़न कम करने का अच्छा उपाए है| इस एक्‍सरसाइज को करने के लिए आपकी जिम भी जाने की ज़रूरत नहीं और आप घर पर भी गाना लगाकर जुम्बा एक्‍सरसाइज कर सकते हैं| ये एक्‍सरसाइज वज़न कम करने के साथ ही गर्भवती होने के अवसरों को बढ़ाएगा|

5.   योग:

जब बात स्वस्थ की हो तो योग कैसे छोड़ सकते हैं? योग आसन सिर्फ शारीरक स्वस्थ के लिए ही नहीं बल्कि मानसिक शांति के लिए भी किया जाता है| योग आसन से पीसीओडी से होने वाले हॉर्मोनल आसंतुलन को संतुलन में लाया जा सकता है| ऐसे बहुत से योग आसन से जिससे पीसीओडी से परेशान महिलाओं की प्रजनन क्षमता में सुधार लाया जा सकता है जैसे पस्चीमोत्तानासन, भ्रामरी प्राणायाम, भुजंगासन, और विपरीताकर्णी|

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*