आयुर्वेदा में ऐसा क्या है, जिससे मानसिक तनाव कम होता है

reduce stress with ayurveda

आज हम बात करेंगें आयुर्वेद में बताये गए कुछ ऐसे तरीकों के बारे में जिनके इस्तेमाल से आपका मानसिक तनाव कम होगा|

हालही में आपने देखा होगा ही दुनिया के सबसे नामी और फिट लोगों की तुलना में गिनने जाने वाले क्रिकेटर्स भी मानसिक तनाव (stress) से गुज़र रहें हैं या पहले गुज़र चुके हैं|

इससे ये बात तो समझ में आती है की ज़रूरी नहीं की जो इंसान फिट है उससे मानसिक तनाव नहीं होगा|

ये किसी को भी हो सकता है, और ज़िन्दगी के किसी भी पड़ाव में हो सकता है|

मानसिक तनाव कम कैसे करें?

बादाम का दूध

  • रात में 10 से 12 बादाम भिगोकर रख दें, अगले दिन उसका छिलका उतार लें।
  • गर्म दूध में पिसे हुए बादामों को अच्छी तरह मिला लें|
  • आप इसमें अन्य मेवों को भी मिला सकते हैं।
  • इसमें थोड़ी-सी अदरक और केसर मिलकर पीलें, ऐसा करने से आपका दिमाग शांत रहेगा और आपकी चिंता भी कम होगी|
  • इसे रोज़ पीने से आपका वात दोष कम होने लगेगा।
Badam Milk

कोई भी व्यक्ति मानसिक तनाव का शिकार नहीं बनना चाहता है। इसके बाद भी कई लोग ऐसे हैं, जो दिनभर कुछ न कुछ सोचकर परेशान रहते हैं।

जरूरत से ज्यादा किसी विषय के बारे में सोचना, आपका स्वास्थ्य खराब कर सकता है और आप अवसाद (Depression) के शिकार भी हो सकते हैं।

किन-किन कारणों से होती है चिंता?

  • आयुर्वेदा के अनुसान, अक्सर शरीर के वात दोष खराब होने से चिंता होती है।
  • जब आपका शरीर ज़रुरत से ज़्यादा काम करता है|
  • जब आप समय पर खाने की बजाये, बेवक़्त खाना खाते हैं|
  • कई बार ठन्डे वातावरण के कारण भी दोष बिगड़ने लगता है।

ऐसे में आपकी चिंता ज़्यादा बढ़ती है, जिसकी वजह से आपका काम में मन नहीं लगता और नींद आने में भी परेशानी होती है|

मानसिक तनाव पर किन-किन तरीकों से वार किया जा सकता है?

महंगे परफ्यूम और सेंट्स का शौक बहुत से लोगों में देखा गया है, पर क्या आप जानते हैं की अच्छी खुशबू, आपको अच्छा महसूस भी करवाती है|

वात दोष (Vata Dosha) जिसे आयुर्वेदा में चिंता का कारण बताया गया है|

लेकिन कुछ सुगंधों से आपका तनाव, यानि की वात दोष कम होता है|

सुगंध चिकित्सा

सुगंध चिकित्सा
  • तुलसी, नारंगी, लौंग और लैवेंडर का तेल मार्किट से खरीदें|
  • इनकी कुछ बूँदें, गरम पानी में मिलकर नहाने से आपका स्ट्रेस लेवल कम होगा और आप बेहतर फील करेंगें|
  • कमरे में अच्छी सुगंध भी कारगर हो सकती है|
  • आप चाहे तो दिन के समय या रात के समय आपने कमरे में अपनी मन पसंद की हलकी सुगंध का प्रयोग कर सकते हैं|

वैकल्पिक नाक श्वास

वैकल्पिक नाक श्वास

अगर आप रोज़ सुबह उठ के योग करते हैं और इसके साथ ही नाक श्वास भी करते हैं, तो ये आपके दोषों को शांत करने में काफी कारगर है और ये किसी भी तरह की चिंता को कम करता है|

  • योग से आपका मस्तिष्क संतुलित रहता है और योग आपके मन की ऊर्जा भी बनाए रखता है।
  • किसी शांत जगह इसका प्रयास करना आपके लिए लाभकारी होगा।
  • बस आप इस बात का ध्यान रखें की सांस लेते समय, बल का प्रयोग नहीं करना है|
  • सांस लेते समय मुंह से सांस न लें और बीच-बीच में थोड़ा आराम करें।

अगर आपको भी लगता है, कुछ वजहों से आप मानसिक तनाव से ग्रस्त हैं तो, आप भी इन उपायों को इस्तेमाल कर आपने स्ट्रेस लेवल को खुद ही कम कर सकते हैं|

पहले शुरुआत खुद से करें, क्यूंकि अगर आप खुश हैं तभी आप दूसरों को खुश रख सकते हैं|

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*