जानिए क्यूँ शिशु को दाल का पानी क्यूँ पिलाते हैं– दाल के पानी के 6 फायदे!

dal ka pani

आज हम जनेगें की दादी, नानी शिशुओं को दाल का पानी पिलाने के क्यूँ कहती थी और दाल का पानी पीने के क्या-क्या फायदे होते हैं| आज कल लोग बहुत सारे सूप, डाइरी प्रोडक्टस और ना जानें कितनी सारी चीजों का सेवन करते हैं ये सोच के की ये उनकी सेहत के लिए अच्छा लेकिन क्या आपने कभी दाल का पानी पिया है? क्या आप जानते हैं की दाल का पानी पीने से आपको कितने सारे फायदे मिलते हैं?

इसलिए आज हम इस ब्लॉग की मदद से आपको बताएँगे की किस तरह दाल के पानी का सेवन कने से आपको कई तरह के फायदे मिल सकते हैं| दाल पानी आपके शरीर को भरपूर एनर्जि देने के साथ ही वज़न कम करने में भी मदद करता है| इसके साथ ही दाल के पानी में हरपूर मात्रा में प्रोटीन भी होता है और वज़न कम करने के लिए प्रोटीन का सेवन हितकारी माना जाता है|

दाल के पानी में फाइबर भी अच्छी मात्रा में होता है जिससे इसका सेवन करने के बाद भी आपको भूख कम लगती है और इसके साथ ही दाल का पानी पीने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है जो की वज़न कम करने में मदद करता है|

इसलिए हर एक कटोरी दाल का पानी का सेवन करें और भरपूर ऊर्जा के साथ बहुत सारे स्वस्थ लाभ भी पायें|

दाल के पानी का सेवन करने से मिलते हैं ये फायदे:

1.   पाचन क्रिया रहे मजबूत:

दाल का पानी फाइबर में रिच होता जिस जिस कारण इसका सेवन करने से आपको पाचन की समस्या नहीं होती है और ये आपका पाचन तंत्र भी मजबूत करता है| इसके साथ ही दाल का पानी का सेवन करने से आपको मल त्यागने में किसी प्रकार की कठिनाई नहीं होती क्यूंकी ये आपके मल को टाइट बनाता है| दाल का पानी पेट से जुड़ी दिक्कतें जैसे की एसिडिटी, पेट दर्द, पेट में मरोड़ और ब्लोटिंग की दिक्कत को ठीक करने में हितकारी है| खासकर डायरिया में मूंग की दाल का पानी सेहत के लिए बहुत हितकारी होता है|

2.   रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है:

दाल का पानी आयरन से भरपूर होता है जो की आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है| इसके साथ ही दाल के पानी में एंटी माइक्रोबियल प्रॉपर्टीज और एंटी ऑक्सीडेंट गुण होते हैं जिससे आपकी इम्यूनिटी बढ़ती है|एक शोध के अनुसार दाल के पानी में सॉल्यूबल फाइबर होते हैं और ये आपके प्रोटीन के उत्पादन को बढ़ाने का काम करते हैं इसके साथ ही आपकी इम्यून सेल्स में भी बदलाव लाते हैं, जिससे रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है|

3.   दिनभर भरपूर ऊर्जा:

अगर आप दिनभर भरपूर एनर्जि के साथ काम करना चाहते हैं तो दाल का पानी एक तरह की एनर्जि ड्रिंक काम करेगा| दाल के पानी में विटामिन, आयरन, मिनिरल्स, फाइबर, कार्ब्स, थियामिन, मैग्नीशियम, नियासिन और एंटी ऑक्सीडेंट्स आदि पोशक तत्व होते हैं| दाल के पानी को आप कुछ घंटे स्टोर करने के बाद भी पी सकते हैं|

4.   शिशु के लिए हितकारी:

चाहे कोई बड़ा हो, बच्चे या नन्हें शिशु की बात हो, दाल का पानी सभी के लिए बहुत लाभकारी होता है खासकर शिशुओं के लिए जो सॉलिड फूड खा नहीं सकते| दाल के पानी के सेवन से छोटे बच्चों में दस्त, कब्ज की दिक्कत नहीं होती है| यही कारण है की शिशु को दाल का पानी पिलाना अच्छा होता है| दाल का पानी बच्चो के दिल की सेहत के लिए अच्छा होता है और उनके दिमाग के लिए भी अच्छा होता है, सतह ही बच्चों में आयरन की कमी नहीं होने देता है|

5.   डायरिया में फायदेमंद:

अगर किसी को डायरिया की दिक्कत है तो दाल के पानी का सेवन काफी फायदेमंद होता है| डायरिया में दाल का पानी पेने से शरीर को एनर्जि मिलती है और कमजोरी कम होती है क्यूंकी दाल का पानी इलेक्ट्रोलाइट वाटर की तरह काम करता है। इसके सतह ही डायरीय आमें शरीर में पानी की कमी हो जाती है जिसे पूरा करने के लिए दाल का पानी फायदेमंद होता है| एक्सपेर्ट की मानें तो दस्त और डायरिया जैसी दिक्कत में दाल का पानी और दाल की खिचड़ी काफी हितकारी होती है|

6.   वज़न कम करने में मदद करे:

अगर आप अपना वज़न कम करना चाहते हैं तो दाल का पानी काफी फायदेमंद हो सकता है क्यूंकी दाल की पानी में पोशक तावत भरपूर होते हैं पर इसमें नामात्र कैलोरी होती है| इसके साथ ही इसमें भरपूर फाइबर भी होता है जिससे आपको भूख कम लगती है| दाल का पानी बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मदद करता है| आप बहुत सारी दाल के पानी का सेवन कर सकते हैं जैसे की अरहर, मूंग दाल, काली दाल, मसूर दाल आदि| दाल के पानी में बहुत सारे पोशाक तत्व होते हैं जैसे की फाइबर, कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन, मिनिरल्स और अन्य पोशाक तत्व भी|

दाल का पानी बनाने का तरीका:

1.   दाल का पानी बनाने के लिए ज़रूरत के अनुसार दाल लेकर उससे अच्छे से धो लें|

2.   इसके बाद एक कूकर में दाल के अनुसार पानी डालकर दाल को चढाएँ औए उसमें थोड़ी सी हल्दी और नमक दाल कर 4 से 5 सीटी आने तक इंतज़ार करें|

3.   जब 4 से 5 सीटी आ जाए तब, या फिर जीतने में आपको लगता है की दाल पाक गयी होगी उतनी सीटी लगाकर गॅस बन कर दें|

4.   दाल जब पाक जाये तो उसे बाहर निकालकर बारीक पीस लें और फिर उसे फिर उसे छान कर दाल का पानी उसमें मिला दें|

5.   इसके बाद आप इस दाल के पानी का सेवन कर सकते हैं, आप चाहें तो नमक बाद में भी मिला सकते हैं पर अगर आपको सही अनुपात पता है तो पहले भी डाल सकते हैं|

अब जब आपको दाल का पानी बनाने की विधि पता चल गयी है तो आप कभी भी दाल का पानी बनाकर इसका सेवन कर सकते हैं और दाल के पानी का सेवन करके हेल्थ को मिलने वाले फायदों का लाभ उठा सकते हैं|

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*