SureShot Ayurveda
    

Exercise For Piles

Exercises to treat Piles (Haemorrhoids)

Do these yoga asanas to prevent and improve your digestion and bowel movements:

Pelvic floor contraction

This exercise helps to strengthen your pelvic floor muscles. This exercise further helps to improve your bowel movements. If you want to relax your anal sphincter, ease the process of passing stool, and prevent excessive straining you should practise pelvic floor contraction.

Follow these steps:-

  • Lie down in your back or sit.
  • Then try to contract the anal muscles.
  • Hold this contraction for 5 seconds.
  • Then take a break for 20 seconds and then do the same thing again for at least 5 times.
  • Do not use too much strength while doing this.
  • Once you squeeze your muscles try to relax your muscles sooner.
  • You can do this exercise for 2 to 4 times a day.
Piles Pain
Exercise For Piles

Deep breathing exercise

This is a simple but effective exercise that can help you to get rid of the pelvic floor muscles tension and promote relaxation in that area.

Follow these steps:-

  • First, you need to sit straight, and then place your hands just above the waist area.
  • While you are inhaling and breathing deeply into your abdomen, you will allow your belly area to expand.
  • Then try to draw your navel towards your spine and do this while exhaling.
  • You need to do this exercise for at least 5 minutes.

Child’s Pose (Balasana)

This is helpful to relax your legs, lower back area and hip area. This yoga asana is helpful the blood circulation in the anus area this further help to treat problem-related to constipation. This yoga asana also helps to massage the internal organs.

Follow these steps:-

  • Place your palms and fists on the ground while increasing pressure on the abdomen area.
  • Then sit while putting your hips on the heels area.
  • Then slowly extend your arm in front of you and feel relaxed.
  • You need to hold this position and feel relaxed for at least 5 minutes.
Piles Pain
Exercise For Piles

Legs Up-the-Wall Pose (Viparita Karani)

If you feel any discomfort in the anus area then this asana will help to increase the blood circulation in the anus area.

Follow these steps:-

  • Sit comfortably on the right side and sit next to a wall.
  • Then raise your legs upwards and place on the wall.
  • You need to lie down on your backside while doing this.
  • Then gently give yourself an abdominal massage and keep your arms comfortably.
  • You need to hold this position for at least 15 minutes.

Wind-Relieving Pose (Pawanmuktasana)

This yoga pose helps to improve digestive comfort because when practising this yoga asana this put pressure on your abdomen areas. This helps to relax the buttocks, anus and buttocks muscles.

Follow these steps:-

  • Lie down on your backside and then bend your knees.
  • Make sure your knees are bends inwards and draw toward your chest area.
  • Hold your knees with your hands.
  • Try to hold this pose for at least 1 minute.
Piles Pain
Exercise For Piles

Bound Angle Pose (Baddha Konasana)

This yoga asana is helpful to strengthen inner thighs, knees and groin. Also, this yoga asana is helpful to increase flexibility and to soothe your digestive discomfort and stimulate your abdominal organs.

Follow these steps:-

  • Sit on a yoga mat and keep the soles of your feet together.
  • Try to widen your knees in the outward direction.
  • While you are trying to lengthen your spine, interlace your fingers and hold your pinky toes.
  • Try to hold this position for at least one minute.

पाइल्स (बवासीर) के इलाज के लिए व्यायाम

अपने पाचन और मल त्याग को सुधारने के लिए इन योग आसनों को करें:

पेल्विक फ्लोर संकुचन

यह व्यायाम आपके पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद करता है। यह व्यायाम आपके बॉविल मूवमेंट को बेहतर बनाने में मदद करता है। यदि आप अपने anal sphincter यंत्र को आराम देना चाहते हैं और स्टूल पास करने की प्रक्रिया आसान करना चाहते हैं और अत्यधिक तनाव को कम करना चाहते हैं तो आपको पेल्विक फ्लोर संकुचन का अभ्यास करना चाहिए।

इन कदमों का अनुसरण करें:-

  • अपनी पीठ के बल लेट जाएं या बैठ जाएं।
  • फिर गुदा (anal) की मांसपेशियों को सिकोड़ने की कोशिश करें।
  • 5 सेकंड के लिए इस संकुचन को रोक कर रखें।
  • फिर 20 सेकंड के लिए ब्रेक लें और फिर कम से कम 5 बार फिर से यही प्रक्रिया दौहराएँ|
  • ऐसा करते समय ज्यादा ताकत का इस्तेमाल न करें।
  • एक बार जब आप अपनी मांसपेशियों को निचोड़ लेते हैं तो अपनी मांसपेशियों को जल्द आराम करने की कोशिश करते हैं।
  • आप इस व्यायाम को दिन में 2 से 4 बार कर सकते हैं।
Piles Pain
Exercise For Piles

गहरी साँस लेने का व्यायाम

यह एक सरल लेकिन प्रभावी व्यायाम है जो आपको पैल्विक फ्लोर की मांसपेशियों के तनाव से छुटकारा पाने और उस क्षेत्र में छूट को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है।

इन कदमों का अनुसरण करें:-

  • सबसे पहले, आपको सीधे बैठने की ज़रूरत है, और फिर अपने हाथों को कमर क्षेत्र के ठीक ऊपर रखें।
  • जब आप अपने पेट में गहराई से साँस लेते हैं, तो आप अपने पेट के क्षेत्र का विस्तार कर सकते हैं।
  • फिर अपनी नाभि को अपनी रीढ़ की ओर खींचने की कोशिश करें और सांस छोड़ते हुए ऐसा करें।
  • आपको इस व्यायाम को कम से कम 5 मिनट तक करने की आवश्यकता है।

चाइल्ड्स पोज़ (बालसाना)

यह आपके पैरों, पीठ के निचले हिस्से और कूल्हे के क्षेत्र को आराम देने में सहायक है। यह योग आसन गुदा क्षेत्र में रक्त परिसंचरण में सहायक होता है जो आगे चलकर कब्ज से संबंधित समस्या का इलाज करने में मदद करता है। यह योग आसन आंतरिक अंगों की मालिश करने में भी मदद करता है।

इन कदमों का अनुसरण करें:-

  • पेट के क्षेत्र पर दबाव बढ़ाते हुए अपनी हथेलियों और मुट्ठी को जमीन पर रखें।
  • इसके बाद हील्स एरिया पर अपने कूल्हों को लगाते हुए बैठें।
  • फिर धीरे-धीरे अपने हाथ को अपने सामने फैलाएं और रिलैक्स महसूस करें।
  • आपको इस आसन को कम से कम 5 मिनट के लिए करना है और इसे करते वक़्त रिलैक्स भी महसूस करें|
Piles Pain
Exercise For Piles

लेग्स अप-द-वॉल पोज़ (विपरीता करणी)

यदि आपको गुदा क्षेत्र (anus area) में कोई प्रेषाणी महसूस होती है तो यह आसन गुदा क्षेत्र में रक्त परिसंचरण को बढ़ाने में मदद करेगा।

इन कदमों का अनुसरण करें:-

  • दायीं ओर आराम से बैठें और एक दीवार के पास बैठें।
  • फिर अपने पैरों को ऊपर की ओर उठाएं और दीवार पर लगाएं।
  • ऐसा करते समय आपको अपनी पीठ के बल लेटने की जरूरत है।
  • फिर धीरे से अपने आप को पेट की मालिश दें और अपनी बाहों को आराम से रखें।
  • आपको इस क्रिया को कम से कम 15 मिनट तक पकड़ करना होगा।

विंड-रिलिविंग पोज़ (पवनमुक्तासन)

यह योग मुद्रा पाचन आराम को बेहतर बनाने में मदद करती है क्योंकि इस योग आसन का अभ्यास करते समय आपके पेट के क्षेत्रों पर दबाव पड़ता है। यह गुदा और नितंबों की मांसपेशियों को आराम पहुंचाने में मदद करता है।

इन कदमों का अनुसरण करें:-

  • अपनी पीठ के बल लेट जाएं और फिर अपने घुटनों को मोड़ें।
  • सुनिश्चित करें कि आपके घुटने अंदर की ओर झुके हुए हैं और आपके छाती की ओर हैं।
  • अपने हाथों से अपने घुटनों को पकड़ें।
  • इस मुद्रा को कम से कम 1 मिनट तक पकड़ने की कोशिश करें।
Piles Pain
Exercise For Piles

बाउंड एंगल पोज (बड्ड कोंसाणा)

यह योग आसन आंतरिक जांघों, घुटनों और कमर को मजबूत बनाने में सहायक है। साथ ही, यह योग आसन लचीलेपन को बढ़ाने और आपकी पाचन संबंधी परेशानी को शांत करने और आपके पेट के अंगों को उत्तेजित करने में सहायक है।

इन कदमों का अनुसरण करें:-

  • एक योग चटाई पर बैठें और अपने पैरों के तलवों को एक साथ रखें।
  • अपने घुटनों को बाहर की दिशा में चौड़ा करने की कोशिश करें।
  • जब आप अपनी रीढ़ को लंबा करने की कोशिश कर रहे हैं, तो अपनी उंगलियों को गूंथ लें और अपने पैर की उंगलियों को पकड़ें।
  • कम से कम एक मिनट के लिए इस प्रक्रिया को करें।
Query for Piles Pain

Say Good Bye to Haemorrhoids Pain Today!

Turn To The Herbal Side With Ayurvedic Medicines.

Testimonial

What People Say
Stay Tuned

SureShot Ayurveda © 2020.All Rights Reserved